बवासीर में दूध पीना चाहिए या नहीं – Bawasir Mein Dudh Peena Chahiye Ya Nhi

यहाँ इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको बताएँगे कि बवासीर में दूध पीना चाहिए या नहीं। अगर आप भी यह जानना चाहते है तो आगे इस पोस्ट में हमारे साथ बने रहिये।

बवासीर ऐसी गंभीर बिमारियों में से एक है जिसमें व्यक्ति को अधिक पीड़ा का सामना करना पड़ता है। बवासीर की बीमारी में व्यक्ति को गुदा के बाहर और अंदर सुजन और मस्से होती है, जिससे कि बवासीर वाले व्यक्ति को मल त्याग करने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है और साथ ही मल त्याग के दौरान खून भी निकलता है। हम आपको बता दे कि बवासीर जैसी बीमारी गलत खान-पान और गलत जीवनशैली को अपनाने होती है। यदि व्यक्ति को इस घातक बीमारी से छुटकारा पाना हो तो अपने खान-पान और जीवनशैली को सुधारने की आवश्यकता है।

यदि बवासीर के रोगियों के द्वारा अपने खान-पान को लेकर लापरवाही बरती जाए तो बवासीर के दौरान होने वाली परेशानी कम होने के बजाय बढ़ जाती है। इसलिए ऐसी स्थिति में व्यक्ति को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। इस रोग से पीड़ित व्यक्ति को जितना हो सके डॉक्टर की सलाह के अनुसार या सोच समझ कर ही अपना आहार तय करना चाहिए।

आज हम इसी से सम्बंधित विषय पर आपके साथ चर्चा करेंगे और बताएँगे कि आपको बवासीर में दूध पीना चाहिए या नहीं। क्योंकि इससे सम्बंधित हमारे पास कई प्रश्न आये थे, इसलिए इसके समाधान के लिए आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपके साथ यह आवश्यक जानकारी साझा कर रहे है।

Also Read: बवासीर में किशमिश के फायदे

बवासीर में दूध पीना चाहिए या नहीं

वैसे तो दूध पौष्टिक तत्वों से भरपूर होने की वजह से सेहत के लिए काफी लाभकारी होता है परंतु बवासीर के मरीज को दूध का सेवन करने से बचना चाहिए, क्योंकि अधिकांश लोग पैक्ड यानी कि प्रोसेस्ड दूध का उपयोग करते हैं। इस दूध में कैमिकल का इस्तेमाल किया जाता है, इसके अलावा प्रोसेस्ड दूध को ग्लुकोज, वेजिटेबल आयल, अमोनियम सल्फेट और युरिया जैसी कई तरह की चीजों के मिलावट से तैयार किया जाता है। जो सामान्य दूध होता है, उसमें फाइबर पाया जाता है, लेकिन डेयरी उत्पाद में फाइबर बहुत ही कम मात्रा में पाया जाता है।

जो सामान्य दूध होता है, उसमें फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जिससे बवासीर के रोगियों के द्वारा इस दूध का सेवन किया जाता है तो इससे पेट में कब्ज और गैस जैसी समस्या नहीं होती है। किन्तु डेयरी उत्पाद के दूध में फाइबर बहुत ही कम मात्रा में होता है, जिससे बवासीर के रोगी के पेट में कब्ज और गैस जैसी समस्या पैदा हो सकती है। इससे मल त्याग के दौरान दर्द बढ़ सकता है और रोगी को मल त्याग करने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है इसलिए बवासीर के रोगियों को प्रोसेस्ड दूध का सेवन नहीं करना चाहिए।

हमें उम्मीद है हमने जो जानकारी आपके साथ साझा की है उसे आप समझ पाए होंगे और आपको यह पोस्ट उपयोगी लगी होगी। अब आपको पता चल गया होगा कि क्यों आपको बवासीर में दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। कृपया डेरी उत्पाद के दूध या मार्केट में उपलब्ध दूध का सेवन ना करें, क्योंकि इसमें फाइबर बिल्कुल ही कम मात्रा में होता है और अन्य केमिकल अधिक मात्रा में होते है, जो आपके लिए बवासीर में परेशानी का कारण बन सकते है।

Also Read: बवासीर में चाय पीनी चाहिए या नहीं

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.