बवासीर में आलू खाना चाहिए कि नहीं – Good Health Tips 4U

यह पोस्ट बवासीर के मरीजों द्वारा पूछे गए एक सवाल के बारे में है कि बवासीर में आलू खाना चाहिए कि नहीं, तो इस आप भी अगर इसके बारे में जानना चाहते है यह पोस्ट पढ़ सकते है।

बवासीर ऐसी बीमारी है जिसमें हमें अपने खान पान का बहुत ध्यान रखना होता है, बवासीर के मरीज को कुछ खाने से पहले यह पता होना चाहिए कि वह कौन सी चीज का सेवन करें या कौन सी चीज का सेवन ना करें, बवासीर के रोगियों को खाने पीने की चीजों को लेकर सावधानी बरतनी होगी। अगर हम हमारी नियमित दिनचर्या व अपने खानपान की चीजों पर सही ध्यान दें तो हमारी आधे से ज्यादा बीमारियां, तो ऐसे ही ठीक हो जायेगी और हमें किसी भी प्रकार की कोई दवाइयां खाने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। इसके अलावा हमें किसी भी प्रकार की स्वास्थ सम्बंधित समस्या भी नहीं झेलनी पड़ेगी। बवासीर से पीड़ित रोगों के द्वारा अक्सर यह सवाल पूछा जाता है कि क्या हमें बवासीर आलू खाना चाहिए कि नहीं, तो आपके इस सवाल का जवाब हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से देने वाले हैं।

बवासीर-में-आलू-खाना-चाहिए-कि-नहीं (2)

हर घर में आलू का उपयोग रसोईघर में कई तरह के पकवान बनाने में किया जाता है। आलू पोषक तत्वों से भरपूर होता है इसलिए सेहत के लिए भी अच्छा होता है। लेकिन कुछ बीमारियों में आलू खाना ठीक नहीं होता है। क्योंकि आलू का सेवन अधिक मात्रा में करने से यह हमारे जोड़ों यानी शरीर के जॉइंट्स में दर्द व सुजन पैदा कर सकता है। इसके अलावा यदि आलू का जरूरत से ज्यादा सेवन किया जाए तो यह शरीर में फैट और कैलोरी को भी बढ़ाता है, इसलिए बवासीर के मरीज के लिए भी आलू खाना नुकसानदेह साबित हो सकता है।

Also Read: बवासीर में चाय पीनी चाहिए या नहीं

बवासीर में आलू खाना चाहिए कि नहीं

आलू के सेवन से अधिकतर लोगों को कब्ज जैसी समस्या हो जाती हैं। अगर आप कब्ज की समस्या के पहले से ही शिकार है तो आपको पेट संबंधित कई समस्याएं हो सकती है, जो कि बवासीर में परेशानी का कारण बन सकती है। इसलिए जितना हो सकते आप बवासीर में आलू का सेवन करने से बचे। हम आपको बता दे कि आलू में कार्बोहाइड्रेट व नेचुरल शुगर पायी जाती है जो वजन बढ़ाने का काम करती है और वजन का बढ़ना भी बवासीर में ठीक नहीं है।

साथ ही आलू के सेवन से सूजन और दर्द की समस्या भी हो सकती है, क्योंकि यह एक भरी आहार है, जिसमें भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होते है. सामान्य व्यक्ति के लिए तो इसका सेवन बहुत फायदेमंद है कर यह तक की दुबले पतले लोगो के लिए और भी अधिक फायदेमन्द है लेकिन अगर आप बवासीर की समस्या से जूझ रहे है तो कृपया आप इसका सेवन न ही करें तो बेहतर होगा।

Also Read: बवासीर में किशमिश के फायदे

हम आपको यह स्पष्ट रूप से बता दे कि आलू के सेवन से शरीर में ग्लाइकोएल्कलॉइड्स की मात्रा बढ़ जाती है, जो सूजन जैसी समस्याओं के लिए जिम्मेदार हो सकती है। और जिन्हें पहले से ही कब्ज जैसी समस्या है उनके लिए आलू का सेवन और भी नुकसानदेह और कष्टदायक साबित हो सकता है।

इसलिए बवासीर के रोगियों को यह सलाह दी जाती है कि जो चीजें कब्ज पैदा करें, ऐसे चीजें को खाने से बचें। बवासीर के मरीजों को आलू का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि आलू का सेवन करने से बवासीर के मरीज के लिए कष्ट बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है। इसके अलावा आलू के सेवन से बवासीर के दौरान मस्सों से खून अधिक निकल सकता है। साथ ही बवासीर के अलावा आतिसार, प्रवाहिका में भी आलू खाना से परहेज करना चाहिए।

अंत में आपको इस पोस्ट को पढ़कर समझ तो आ ही गया होगा कि बवासीर में आलू का सेवन करना कितना नुकसानदेह हो सकता है इसलिए बवासीर में आलू का सेवन ना करें। जितना हो सके ऐसे खाद्य पदार्थ जो कि बवासीर के दौरान परेशान खड़ी कर सकते है उनका सेवन करने से बचें। और ज्यादा से ज्यादा हल्का भोजन करे, साथ ही फलों और जूस का सेवन करें।

Also Read: बवासीर में बादाम खाना चाहिए या नहीं 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *